प्रारंभिक परीक्षा हेतु टिप्स

यू०पी०एस०सी प्रारंभिक परीक्षा हेतु  रणनीति

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा इस वर्ष 18 June को निर्धारित है l प्रारंभिक परीक्षा में दो पत्र होते हैं :

1) सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र 1

2) सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र 2 (सीसैट)

सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र 1 में 100 प्रश्न पूछे जाते हैं एवं इसका पूर्णांक 200 है l प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक तिहाई अंक (अर्थात 0.66 अंक) काट लिए जाएँगे l सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र 2 में कुल 80 प्रश्न पूछे जाते हैं एवं इस पत्र का भी पूर्णांक 200 है l  प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक तिहाई अंक (अर्थात 0.66 अंक) काट लिए जाएँगे, परन्तु यह नियम “निर्णयन एवं समस्या समाधान” खण्ड के लिए लागू नहीं होता l “निर्णयन एवं समस्या समाधान” खण्ड से प्रत्येक वर्ष करीब 7 से 8 प्रश्न (80 प्रश्नों में) पूछे जाते हैं, एवं इसमें गलत उत्तर पर ऋणात्मक अंक का प्रावधान नहीं है l नए पाठ्यक्रम के अनुसार वर्ष 2015 से यह पेपर केवल क्वालीफाइंग रह गया है एवं इस पेपर का प्राप्तांक पेपर 01 के साथ नहीं जोड़ा जाता l अपितु, इस पेपर (CSAT) के क्वालीफाई करने पर ही पेपर 01 का चेकिंग होगा एवं उस पेपर (अर्थात पेपर 01) का प्राप्तांक ही प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए आधार होगा l

Read more

IAS 2018 Preparation Strategy

IAS Prelims 2018: Start the Preparation Now

It is the right time to start the preparation for IAS 2018 now, because you have around ONE YEAR for complete preparation. The Candidates should also start analysing previous year IAS Prelims Question Papers. The candidates can evaluate themselves by taking the IAS Prelims 2017 Question Paper in an Interactive Format.

Advantages of Evaluation

 The candidates have the following advantages of evaluating their Paper of IAS Prelims 2017.

1. The Candidates who are sure of their Selection should start the preparation for the IAS Main 2017.

Read more

Strategy for UPSC(PT) 2017

The Civil Services Preliminary examination to be conducted by the Union Public Services Examination is believed to be the toughest stage in the whole process of an IAS selection. Out of 100 candidates, who write the Prelims, 97 may not clear prelims owing to two main reasons:

Only a few vacancies
Lack of right approach


The exam is scheduled to be held on June 18. The total number of applicants is 9.5 lakh out of which the number of candidates who qualify for second stage (mains) will be only around 15,000. Around a million applicants fight to find a place in the top 15000 positions which makes prelims stage certainly not a cake-walk.

Read more